Samasya ka vakya banao

अगर मरीज कुंठित हो जाए या मनोवैज्ञानिक समस्या का शिकार हो जाए तो परिवार वाले उसकी परेशानी को समझते हुए उसकी मदद करें।

पीलिया की समस्या से निजात दिलाने में भी यह काफी कारगर है।

अगर आप इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपने खान-पान की आदतों में कुछ बदलाव करें।

अगर जीरे का सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है तो आपको माहवारी के समय अत्यधिक ब्लीडिंग की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

आमतौर पर रात के खाने में दाल खाने से लोगों को अपच या इनडायजेशन की समस्या होती है।

खाना खाने के तुरंत बाद पॉटी लगने की समस्या को गैस्ट्रो-कॉलिक रिफलक्स कहते हैं।

अगर बीपी की समस्या रहती है तो सही समय पर दवाएं लेना और खान-पान का ध्यान रखना जरूरी हो जाता है।

मैं इस समस्या को सुलझाऊँगा।

इस समस्या को सुलझाना बहुत कठिन है।

इस समस्या की तहकीकात करने के लिए एक समिति स्थापित करी गई है।

मुझे इस समस्या के बारे में कुछ नहीं कहना है।

यह समस्या बहुत कठिन है।

वे इस समस्या के बारे में बातचीत कर रहे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top