Mansik ka vakya banao

इनके सेवन से चिड़चिड़ापन बौखलाहट गुस्सा आने जैसी मानसिक परेशानियां भी दूर होती हैं।

इस समस्या के कारण लोगों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है जिससे भविष्य में कई

गंभीर बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

ये एक ऐसी मानसिक स्थिति है जिसमें इंसान अचानक भीड़ को देखकर परेशान हो जाता है।

पनीर के सेवन से बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में सहायता मिलती है।

इससे शारीरिक और मानसिक नुकसान हो सकते हैं।

कोरोना के समय में कैसे रखें मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल?

ये थेरेपी मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है।

बाइपोलर डिसऑर्डर ये एक तरह की मानसिक बीमारी है।

यह एक प्रकार की मानसिक बीमारी है जिसे मैनिक डिप्रेशन भी कहते हैं।

रात में 6 से 7 घंटे की अच्छी नींद लेना न सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ज्यादा जरूरी है।

यह मानसिक तौर पर भी हमें एनर्जेटिक बनाएं रखता हैं।

जिन लोगों के खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां कम होती हैं वह धीमे-धीमे मानसिक शक्ति में गिरावट का अनुभव करते हैं।

यह तेजी से बढ़ता हुआ एक मानसिक विकार है।

यह आपको हाई ब्लडप्रेशर से बचाती है और मानसिक व आत्मिक तौर पर शांति प्रदान करती है।

ये मानसिक बीमारी होती है और इसका इलाज करना बहुत जरुरी होता है।

ये एक प्रकार का मानसिक विकार है।

यह मानसिक व शारीरिक रूप से व्यक्ति को मज़बूत बनाता है और ये शरीर को डिटॉक्‍स करता है।

ये मानसिक के साथ-साथ इमोशनल हैल्‍थ को भी दुरुस्‍त करती है।

ये एक तरह का मानसिक विकार होता है जो इंसानों को किसी अप्रिय लगने वाली आवाजों की वजह से होता है।

जब बच्चों को ज़बरदस्ती खाना खिलाया जाता है तो वो उन्हें मानसिक रूप से परेशान करता है।

क्‍या ये एक मानसिक विकार है?

इसमें मौजूद पौटेशियम नवर्स सिस्‍टम के संचरण को बढ़ाता है और आपकी मानसिक स्‍वास्‍थय को दुरुस्‍त करता है।

इस तरह के मानसिक विकार से पीड़ित व्यक्ति खुद को समाज और परिवार से अलग कर देता है।

आपको मानसिक रूप से तरोताजा बनाता है।

आपकी मानसिक स्थिति का असर शारीरिक स्थिति पर भी पड़ता है।

आइए जानते है इस मानसिक विकार को लेकर जुड़े मिथ और सच्‍चाई के बारे में।

अगर आप पर्याप्त मात्रा में सुकून की नींद नहीं ले पाते तो इसका असर आपकी मानसिक सेहत पर भी पड़ता है।

Your Answer