Ilaaj ka vakya banao

अगर शुरुआत में ही इसका इलाज नहीं कराया जाए तो प्रभावित इलाके से मांस कम होने लगता है।

यह एक संक्रमण का संकेत हो सकता है जिसका इलाज किया जाना चाहिए।

कुछ लोग घरेलू नुस्खों से भी मुंह के छालों का इलाज करते हैं।

लंदन में उनका इलाज चल रहा था।

वायरस से संबंधित कई गंभीर बीमारियों का इस थेरेपी से इलाज किया जा चुका है।

वैक्सीन न होने के कारण बचाव ही इलाज है।

बरसात के दिनों में मच्‍छरों से बचाव ही सबसे बड़ा इलाज है।

यह इलाज करीब हफ्ते भर के लिए चलता है।

बरगद का पेड़ कई बीमारियों के इलाज के लिए जाना जाता है।

फिजियोथेरेपी से भी इसका इलाज करवाने की सलाह दी जाती है।

दिल्ली के एक नामी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

डेंगू के इलाज में किसी भी तरह की लापरवाही जानलेवा सिद्ध हो सकती है इसलिए ये ज़रूरी है कि आप किसी विशेषज्ञ चिकित्सक से ही अपना इलाज कराएं।

डायबिटीज आजकल में सामान्‍य बीमारियों में से एक है लेकिन अगर इसका सही समय पर सही इलाज न‍हीं किया गया तो ये जानलेवा भी साबित हो सकता है।

अगर आपको एसिडिटी है तो आपको तुरंत इसका इलाज करवाना चाहिए।

इस समस्‍या को आम समझकर लोग इसका इलाज नहीं करवाते जिससे यह परेशानी बढ़ जाती है।

अगर आपको हाइटल हर्निया है तो तुरंत डॉक्‍टर से इलाज करवाएं।

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top