Din ka vakya banao

अक्सर यह समस्या लोगों में वैक्सीन लगाने के बाद देखी जाती है जो चार से पांच दिन के अंदर ठीक हो जाती है।

इस महीनें में रात और दिन के तापमान में अधिक अंतर होना होता है।

इसके अलावा बेहतर स्‍वच्‍छता के लिए दिन में दो बार नहाना पर्याप्‍त रहता है।

कई लोगों को दिन की तुलना में रात पसंद होती हैं क्‍योंकि रात बहुत ही शांत होती है।

इसे दिन में दो से तीन बार उपयोग में लाना चाहिए।

ऐसा आप 2 से 3 दिन कर सकती हैं।

कई बार ऐब्डॉमिनल माइग्रेन का दर्द आधे घंटे में ही ठीक हो जाता है और कई दफा 2-3 दिन तक बना रहता है।

चाय के बिना ज्यादातर लोगों के दिन की शुरुआत नहीं होती हैं।

तीन से चार दिन तक रोज ऐसा करें।

दिन में बहुत ज्यादा मात्रा में नींबू पानी पीने से आपके दांतो को नुकसान हो सकता है।

यह रैशेज 4 से 11 दिन रहने के बाद ठीक हो गए थे।

विशेषज्ञों की मानें तो एक दिन में दो नींबू से अधिक का सेवन नहीं करना चाहिए।

हो सके तो दिन में कई बार आपको फिश एक्‍वेरियम देखना चाहिए।

दिन में तीन से चार बार इसका इस्तेमाल बहुत ही फायदेमंद रहेगा।

अगर दिक्कत अधिक है तो दिन में दो बार तक इसका सेवन कर सकते हैं।

अगले दिन आपका पेट तुरंत साफ हो जाएगा।

अनिद्रा आमतौर पर दिन के समय नींद सुस्ती और मानसिक व शारीरिक रूप से बीमार होने की सामान्य अनुभूति को बढ़ाती है।

इस दिन आसमान से अमृतमयी किरणों का आगमन होता है।

आप दिन में दो बार से ज्यादा ग्रीन टी न लें क्योंकि किसी भी चीज को एकदम सही मात्रा में लेना चाहिए।

हमें हमारे दिन की शुरुआत अच्छी करनी चाहिए।

कसरत करने से पूरा दिन शरीर ऊर्जावान बना रहता है।

दिन में 24 घंटे होते हैं।

हमें हर दिन कसरत करनी चाहिए।

हर एक दिन हमारी जिंदगी में कुछ नया लेकर आता है।

हम दिन में भी पढ़ाई कर सकते हैं।

हमें दिन की शुरुआत अच्छे ब्रेकफास्ट से करनी चाहिए।

हमें हर दिन कुछ ना कुछ हेल्दी खाना चाहिए।

दिन में चांद नहीं निकलता।

दिन में हमें नीला गगन दिखाई देता है।

हमें हर दिन अच्छा कार्य करने में बिताना चाहिए।

सर्दियों में दिन छोटे हो जाते हैं और रातें बड़ी हो जाती हैं।

गर्मियों में दिन बड़े हो जाते हैं और रातें छोटी हो जाती हैं।

आज दिवाली का दिन है।

होली के दिन सब गुलाल उड़ाते हैं।

1 दिन हम सब पिकनिक मनाने गए।

दिवाली वाले दिन हमने पटाखे चलाएं।

मेरे दोस्त के पास हो जाने से आज हमारा दिन बहुत अच्छा गया।

वह दिन मुझे आज भी याद है जब मैं अपनी मां से दूर हुई थी।

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top